गर्भवती महिलाओं की जांच अनिवार्य रूप से हो : सखलेचा

गर्भवती महिलाओं की एएनसी के साथ थायराइड जाँच अनिवार्य रूप से हो: सखलेचा

राष्ट्रीय शान

भोपाल। सूक्ष्म, लघु मध्यम उद्यम तथा विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री ओमप्रकाश सखलेचा ने कहा है कि स्वस्थ प्रदेश और स्वस्थ जिले की परिकल्पना को साकार करने के लिए स्वास्थ्य के सभी पैरामीटर्स पर खरा उतरना होगा और क्षेत्र के किसी भी मरीज को फिजिकल ऑपरेशन को छोड़कर अन्य किसी जाँच उपचार के लिए बाहर नहीं जाना पड़े, ऐसी व्यवस्था सुनिश्चित की जाए।

मंत्री सखलेचा शुक्रवार को जावद जनपद सभाकक्ष में क्षेत्र के शासकीय एवं अशासकीय चिकित्सकों की बैठक में “स्वस्थ जावद” अभियान की प्रगति की समीक्षा कर रहे थे।
मंत्री सखलेचा ने “स्वस्थ जावद अभियान” की तैयारियों की समीक्षा करते हुए कहा कि सभी गर्भवती माताओं की एएनसी जाँच के साथ ही थायराइड की जाँच तीन बार अनिवार्य रूप से की जाए। उन्होंने कहा कि दिसंबर तक जावद क्षेत्र के 35 वर्ष से अधिक सभी लोगों के स्वास्थ्य का परीक्षण कर उनका डाटा संग्रहित कर लिया जाए। बैठक में बताया गया कि जावद क्षेत्र के 90 हजार 594 लोगों के स्वास्थ की विभिन्न 13 प्रकार की जाँच एवं ECG करवा कर, उनके हेल्थ कार्ड बनाए गए हैं और सभी जाँच रिपोर्ट ऑनलाइन उपलब्ध हैं।
मंत्री श्री सखलेचा ने बीएमओ को निर्देश दिए कि वे शेष रहे लोगों की स्वास्थ्य जाँच के लिए शिविर आयोजित करें। उन्हें टेलीमेडिसिन के माध्यम से उपचार की सुविधा उपलब्ध हो। श्री सखलेचा ने जावद क्षेत्र में डेंगू की रोकथाम के लिए किए जा रहे कार्यों की भी विस्तार से समीक्षा की।
उन्होंने स्वच्छता अभियान की प्रगति की समीक्षा के दौरान निर्देश दिए कि जावद क्षेत्र में प्रदान किए गए 24 स्वच्छता रथों का रोस्टर बनाकर सभी ग्राम पंचायतों में उनके माध्यम से कचरा संग्रहण सुनिश्चित किया जाये। उन्होंने स्वच्छता रथों में ट्रैकिंग डिवाइस लगाने के निर्देश भी दिए। बैठक में चिकित्सकों ने भी अपने सुझाव दिए।