Rastriyshan

सनसनी वारदात : बहु के साथ गलत न कर सका तो बेटी और चचेरे पोते को मार डाला, पुलिस ने कर लिया गिरफ्तार

राष्ट्रीय शान

  • बहू के साथ गलत नहीं कर सका तो चचेरे पोते और अपनी बेटी को मार डाला
  • पोते की हत्या कर लाश कुएं में डाला और बेटी को मारकर शव घर में छिपाया, पुलिस ने आरोपित को किया गिरफ्तार

हंटरगंज (चतरा)। अय्याशी जब परवान चढ़ी, तो एक शख्स ने हैवानियत की हद लांघ दी। उसने चचेरे पोते और सगी बेटी को मार डाला तथा शव को क्रमश: कुएं और अपने घर में छिपा दिया। पुलिस ने शवों को बरामद कर आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है।

मामला वशिष्ठनगर थाने के लेढ़ो गांव का है। गोविंद भुइयां नामक व्यक्ति का 4 वर्षीय पुत्र सूरज पांच दिन पूर्व अचानक लापता हो गया। परिजनों और गांव वालों ने काफी खोजबीन की, मगर कुछ भी पता नहीं चला।मंगलवार को गांव के एक छोर पर स्थित कुएं से काफी दुर्गंध फैलने लगी। इस पर गांव वालों को शक हुआ। कुएं में कांटा डाल कर तलाशी ली गई तो प्लास्टिक के बोरे में बंद लापता बच्चे का शव मिला। शव पर निर्ममता पूर्वक पीटे जाने और गला घोटे जाने के निशान थे। तत्काल पुलिस को इसकी सूचना दी गई। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए चतरा भेज दिया।

परिजनों के शक के आधार पर पुलिस ने गोविंद भुइयां के चाचा (मृतक का चचेरा दादा) जीतन भुइयां को हिरासत में ले लिया। उसने पुलिस के समक्ष स्वीकार कर लिया कि रंजिश के कारण वारदात को अंजाम दिया है। उसका कहना था कि सूरज ने उसकी बेटी को पीटा था, इसलिए उसकी हत्या कर दी और शव कुएं में डाल दिया। इसी बीच पता चला कि आरोपित जीतन की एक दो साल की बेटी भी गायब है। जब पुलिस ने फिर उससे कड़ाई से पूछताछ की तो उसकी भी हत्या कर देने की बात उसने कबूली। उसकी निशानदेही पर उसके ही घर से पुलिस ने बच्ची की लाश बरामद कर ली और पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। हालांकि उसने पुलिस के समक्ष कबूल किया कि वह बेटी को मार कर गोविंद को फंसाना और खुद को बचाना चाह रहा था।

इधर, जब मामले की छानबीन के लिए यह संवाददाता संबंधित गांव में पहुंचा तो मानवता को शर्मसार और पवित्र रिश्ते को तार-तार करने वाले तथ्य सामने आए। मृतक सूरज की मां मालो देवी ने बताया कि आरोपित उस पर बुरी नजर रखता था। कई बार उसे अकेली पाकर घर में घुस गया था। मगर विरोध के कारण वह अपने मंसूबे में सफल नहीं हो पाया था। इससे वह बौखलाया हुआ था। उसने बात नहीं मानने पर बुरे अंजाम की धमकी दी थी। आरोपित अपनी एक बेटी पर भी कु²ष्टि डालता था। विरोध पर उसकी कई बार पिटाई की थी। पिता की प्रताड़ना से आजि‍ज आकर वह गोविंद (चचेरे भाई) के घर में उसकी पत्नी कालो के साथ रहने लगी थी। जीतन उससे भी खार खाया हुआ था। मालो का दावा है कि इसी के कारण जीवन ने वारदात को अंजाम दिया है। इधर, थानेदार सुनील कुमार सिंह ने बताया कि मामले की छानबीन की जा रही है। प्रथम दृश्‍टया आरोपित सनकी और मानसिक रूप से असंतुलित लगता है। उसने रंजिश में वारदात को अंजाम दिया है। आरोपित को फिलहाल जेल भेज दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *