Rastriyshan

फूड एवं ड्रग्स के अधिकारी अपनी ड्यूटी का निर्वाह ठीक से करें

राष्ट्रीय शान

चंडीगढ़। पंजाब के उप मुख्यमंत्री श ओम प्रकाश सोनी ने यहाँ जिलों में तैनात फूड और ड्रग प्रबंधन विभाग के अधिकारियों को हिदायत की कि वह लोक हित को मुख्य रखते हुए अपनी ड्यूटियों का निर्वाह करें।
आज यहाँ हैडक्वार्टर और फील्ड अधिकारियों के साथ पहली मीटिंग करते हुए उन्होंने कहा कि जिलों में तैनात फूड ब्रांच के अधिकारी यह यकीनी बनाएंगे कि राज्य के लोगों को उच्च गुणवत्ता वाला खाद्य पदार्थ यकीनी तौर पर मिले। इसके साथ ही उन्होंने यह भी हिदायत की कि छोटे दुकानदारों को सैंपलिंग के नाम पर तंग न किया जाये।
श्री सोनी ने अधिकारियों को हिदायत की कि वह मासिक सैंपलिंग के लक्ष्य को नये सिरे से तय करें। उन्होंने फूड अधिकारी को कहा कि सिर्फ़ मासिक लक्ष्य पूरा करने के लिए ही सैंपलिंग न करें, बल्कि लोगों को घटिया गुणवत्ता के खाद्य पदार्थों की बिक्री करने वाले दुकानदारों पर नकले कसने के लिए ऐसे दुकानदारों की सैंपलिंग को यकीनी बनाएं।
इस मौके पर उन्होंने ड्रग ब्रांच के अधिकारियों को हिदायत की कि वह यह यकीनी बनाएं कि राज्य में किसी भी प्रकार का मैडीकल नशा न बिके।
श्री सोनी ने राज्य में अन्य नये नशामुक्ति केन्द्र खोलने की मंजूरी देने पर रोक लगाते हुए कहा कि उच्च अधिकारी राज्य के सभी नशामुक्ति केन्द्रों के काम-काज का मुल्यांकन करें और यदि कोई नशामुक्ति केन्द्र गलत काम करता पाया जाता है तो उनके विरुद्ध नियम अनुसार बनती कार्रवाई तुरंत अमल में लाई जाये। उन्होंने ड्रग इंस्पेक्टरों को हिदायत की कि वह हर महीने नशामुक्ति केन्द्रों की जांच करके रिपोर्ट करेंगे।
श्री सोनी ने मीटिंग में उपस्थित अधिकारियों को कहा कि किसी भी प्रकार का भ्रष्टाचार बर्दाश्त नहीं किया जायेगा और भ्रष्टाचार सम्बन्धी जिस भी अधिकारी /कर्मचारी की शिकायत मिली, उसके विरुद्ध तुरंत कार्रवाई अमल में लाई जायेगी।
उन्होंने राज्य वासियों से अपील की कि यदि स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग का कोई अधिकारी /कर्मचारी रिश्वत की माँग करता है, तो उस संबंधी सूचना उनके ध्यान में लाई जाये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *