Rastriyshan

प्रदूषण बढ़ा तो होगी पार्किंग से वसूली

सुरेश चौरसिया

नोएडा। दिल्ली-एनसीआर का वायु प्रदूषण अगर बेहद खतरनाक स्तर पर पहुंचा तो नोएडा और ग्रेटर नोएडा में पार्किंग शुल्क बढ़ेगा, ताकि निजी वाहनों का प्रयोग कम किया जा सके। इस संबंध में वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग की सब कमेटी ने तैयारी करने का आदेश जारी किया है।
कमेटी ने सार्वजनिक यातायात को और बेहतर करने को भी कहा है। कमेटी के आदेश पर उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (यूपीपीसीबी) के क्षेत्रीय कार्यालय ने तैयारी शुरू कर दी है। दिल्ली-एनसीआर में 15 अक्तूबर से ग्रेडेड रेस्पांस एक्शन प्लान (ग्रेप) लागू हो जाएगा। इस समय एनसीआर का वायु प्रदूषण येलो और ऑरेंज जोन में है।
आयोग की सब कमेटी ने मंगलवार को इससे निपटने की गाइडलाइन तैयार की है। यूपीपीसीबी के क्षेत्रीय कार्यालय के अफसरों ने बताया कि सब कमेटी ने आदेश दिया है कि पार्किंग शुल्क बढ़ा दें, ताकि निजी वाहनों का प्रयोग कम हो सके। इससे पहले सार्वजनिक यातायात जैसे बस, मेट्रो सेवा को दुरुस्त कर लें। फ्रीक्वेंसी बढ़ाने के साथ अतिरिक्त बसों की व्यवस्था कर लें। पार्किंग शुल्क के संबंध में संबंधित प्राधिकरण को अवगत करा दिया गया है। इसके अलावा होटल व अन्य भोजनालयों पर कोयला व लकड़ी का प्रयोग बंद कराना होगा। सभी आरडब्ल्यूए और मकान मालिकों को जागरूक करें कि वो सर्दी में बिजली चलित हीटर का प्रयोग करें। सुरक्षाकर्मी अलाव नहीं जलाएं। बीमार लोगों को प्रदूषित क्षेत्र और घर से बाहर नहीं निकलने के प्रति जागरूक करें। इसकी तैयारी की जा रही है।


झांसेे में रखकर की ठगी

नोएडा। आयुष्मान भारत रोजगार योजना के नाम पर प्रदेश के 3423 छात्र-छात्राओं को खेल व योग शिक्षक की नौकरी का झांसा देकर ठगने के आरोप का मामला सामने आया है। एनजीओ ने प्रति अभ्यर्थी 1.55 लाख रुपये वसूले और फर्जी नियुक्ति पत्र थमा दिया। इस मामले में एक महिला अभ्यर्थी की शिकायत पर कोतवाली फेज थ्री पुलिस ने एनजीओ के चेयरमैन, ट्रस्टी समेत छह आरोपियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की है।
पुलिस के मुताबिक, मऊ निवासी श्वेता सिंह का आरोप है कि सेक्टर-63 में आयुष्मान भारत योग एवं प्रशिक्षण शिक्षण संस्थान है। इस एनजीओ के माध्यम से प्रदेश के विभिन्न जनपदों के लिए दिसंबर 2019 में 2276 और 2021 में 1147 शिक्षकों की भर्ती निकाली गई। अभ्यर्थियों से कहा गया कि गृह जनपद में ही तैनाती होगी।
प्रवेश शुल्क के नाम पर सामान्य व पिछड़ा वर्ग के लिए 380 रुपये और अनुसूचित जाति-जनजाति के लिए 280 रुपये लिए गए। इसके बाद अभ्यर्थियों का टेस्ट लिया और काउंसिलिंग के लिए सभी से 500-500 रुपये वसूले गए। इसके बाद प्रति अभ्यर्थी 1.55 लाख रुपये मांगे गए। पैसे मिलने के बाद छात्र-छात्राओं को नियुक्ति पत्र मिल गया। जब अभ्यर्थियों ने उन स्कूलों में जाकर नियुक्ति पत्र दिया तो पता चला कि यह फर्जी है। इसके बाद जब पैसे वापस मांगे गए तो जान से मारने की धमकी दी जाने लगी।
इन पर दर्ज हुआ मामला
इस मामले में वाराणसी, बलिया, लखनऊ, कन्नौज, मुरादाबाद, गाजियाबाद आदि के बीस से अधिक अभ्यर्थियों ने भी अपर पुलिस आयुक्त कानून व्यवस्था लव कुमार से शिकायत की है। इस मामले में कोतवाली फेज थ्री पुलिस ने एनजीओ के चेयरमैन दामोदर कुमार शर्मा, ट्रस्टी संजय चौधरी, फाउंडर विपुल, प्रेसिडेंट साद अब्बासी और टेक्निकल हेड विनीत गुप्ता के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की है।
अभ्यर्थियों का आरोप है कि 25 मार्च को जब दर्जनों की संख्या में पीड़ित सेक्टर-69 ट्रांसपोर्ट नगर पुलिस चौकी पर जमा हुए और पुलिस से शिकायत की तो तीन आरोपियों को पुलिस ने पकड़ लिया था, लेकिन पुलिस ने तीनों आरोपियों पर कोई कार्रवाई नहीं की और छोड़ दिया।

  • गैंगरेप के 25 हजार का इनामी गिरफ्तार

नोएडा। जेवर कोतवाली एरिया में हथियारों के बल पर बधंक बनाकर 55 वर्षीय दलित महिला के साथ गैंगरेप मामले में बुधवार को पुलिस, एसओजी और स्वाट टीम ने 25 हजार के इनामी मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। महिला के साथ चार आरोपियों ने गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया था। इस मामले में पुलिस एक आरोपी को पहले ही जेल भेज चुकी है। हालांकि, अभी भी दो आरोपी फरार हैं। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि जल्द ही अन्य आरोपियों को भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
बता दें कि 10 अक्टूबर को जेवर एयरपोर्ट के लिए अधिग्रहण की गई जमीन से पशुओं के लिए चारा लेने गई एक दलित महिला के साथ गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया गया था। विरोध करने पर आरोपियों ने महिला के साथ मारपीट की और जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल किया। महिला के परिजनों की तहरीर पर पुलिस ने दयानतपुर गांव निवासी महेंद्र और अज्ञात तीन आरोपियों के खिलाफ गैंगरेप, एससी/एसटी एक्ट आदि धाराओं में मुकदमा दर्ज किया था। घटना के बाद से ही पुलिस आरोपियों की तलाश में जुटी थी। इससे पहले पुलिस एक आरोपी देवदत्त को गिरफ्तार कर चुकी है। मुख्य आरोपी के गिरफ्तार नहीं होने पर पुलिस ने उस पर 25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया था, तभी से पुलिस मुख्य आरोपी महेंद्र की तलाश में जुटी थी।
डीसीपी वृंदा शुक्ला ने बताया कि सूचना के आधार पर मुख्य आरोपी महेंद्र को दयानतपुर से नगला जहानू गांव जाने वाली छोटी नहर की सड़क से गिरफ्तार किया गया है। यह पहले भी चोरी के मामले में जेल जा चुका है। उन्होंने बताया कि आरोपी गांजा पीने का आदी है। फरार चल रहे अन्य आरोपियों की तलाश में पुलिस की टीमें जगह-जगह दबिश दे रही हैं।

  • गोली चलाने की घटना आई सामने

नोएडा। थाना सेक्टर 20 क्षेत्र के सेक्टर 8 में बुधवार सुबह एक व्यक्ति को गोली मारे जाने की घटना सामने आई। जांच में पुलिस को पता चला कि आरोपी के खिलाफ उसकी सौतेली बेटियों ने छेड़छाड़ और पॉक्सो अधिनियम सहित विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया था जिसके लिए उसे आज बुधवार को अदालत में पेश होना था।
अपर पुलिस उपायुक्त (जोन प्रथम) रणविजय सिंह ने बताया कि घायल शिव कुमार को उपचार के लिए दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उन्होंने बताया कि शिवकुमार ने हिंदू होते हुए अपना नाम साबिर रखकर नजमा नाम की महिला से दूसरी शादी की थी। नजमा की पहले पति से दो बेटियां हैं।
उन्होंने बताया कि जांच में पता चल कि शिव कुमार के खिलाफ खोड़ा थाने में अपनी नाबालिग सौतेली बेटियों के साथ अश्लील हरकत करने का मुकदमा दर्ज है। उन्होंने बताया कि प्रथम दृष्टया ऐसा प्रतीत हो रहा है कि शिवकुमार ने अपने साथियों के संग मिलकर खुद के ऊपर गोली चलवाई, तथा पिछले मुकदमे में समझौते के उद्देश्य से अपनी दूसरी पत्नी और उसके मायके वालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाना चाह रहा है।
सिंह ने बताया कि पुलिस सभी पहलुओं को ध्यान में रखकर मामले की जांच कर रही है। पुलिस को जांच में पता चला है कि शिव कुमार ऑटो चालक है और वह कल से अपने साथ देसी तमंचा लेकर घूम रहा था।

  • टैंक में सफाई करने उतरे दो कर्मी की मौत

नोएडा। थाना कासना क्षेत्र के साइट-5 स्थित जगदंबा पेट्रोकेमिकल कंपनी में मंगलवार की देर रात को डीजल टैंक की सफाई के लिए टैंक के अंदर घुसे चार मजदूर दम घुटने से बेहोश हो गए। इस घटना में दो की मौत हो गई और दो की हालत गंभीर बनी हुई है।
इस मामले में परिजन की शिकायत पर पुलिस ने कंपनी के मालिक तथा ठेकेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
अपर पुलिस उपायुक्त (जोन प्रथम) विशाल पांडे ने बताया कि थाना कासना क्षेत्र के साइट-5 में जगदंबा पेट्रो केमिकल फैक्टरी है। उक्त कंपनी के डीजल टैंक की सफाई के लिए मंगलवार की देर रात को ठेकेदार हेमंत की तरफ से चार मजदूर पंकज, रामदेव, रविंद्र और रमेश अंदर घुसे।
उन्होंने बताया कि टैंक की सफाई करते समय चारों अंदर हीमजदूर बेहोश हो गए। घटना की सूचना पर कंपनी के अन्य लोगों ने उन्हें टैंक से बाहर निकाला और अस्पताल ले गए जहां पर डाक्टरों ने पंकज और रामदेव को मृत घोषित कर दिया।
इस मामले में पुलिस ने ठेकेदार हेमंत एवं कंपनी के मालिक सुरेंद्र गुप्ता के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है।

  • बकायेदारों से टैक्स की वसूली होगी


नोएडा। जिला प्रशासन पांच हजार व्यवासायिक वाहन मालिकों से रोड टैक्स की वसूली करेगा। परिवहन विभाग टैक्स वसूली के लिए जिला प्रशासन को सूची भेजेगा। एआरटीओ प्रशासन के मुताबिक ज्यादातर वाहन मालिकों का कई साल का रोड टैक्स बकाया है। नोटिस भेजने के बाद भी टैक्स नहीं जमा किया है। जिला प्रशासन की ओर से वाहन मालिक के घर के बाहर नोटिस चस्पा किया जाएगा और टैक्स वसूली के लिए मुनादी कराई जाएगी। इसके बाद टैक्स वसूली की आगे की प्रक्रिया होगी।
एआरटीओ प्रशासन ने कहा कि कोरोना काल में वाहन मालिकों को करीब दो माह की टैक्स में छूट दी गई थी। हालांकि वाहन मालिक पूरे कोरोना काल में टैक्स में छूट की मांग कर रहे थे। शासन को वाहन मालिकों की मांग भेज दी गई थी। उन्होंने कहा कि बिना टैक्स जमा किए दौड़ रहे वाहनों को प्रवर्तन टीम जब्त भी कर रही है। इन दिनों रोजाना औसतन 18 से 20 वाहन जब्त हो रहे हैं।

  • वार्ता विफल
  • नोएडा। प्राधिकरण और किसानों के बीच बुधवार को हुई वार्ता एक बार फिर विफल हो गई। दोनों पक्षों के बीच मांगों को लेकर सहमति नहीं बन पाई। किसान बोर्ड बैठक में संबंधित प्रस्ताव लाकर मंजूरी देने के लिए अड़े रहे जबकि प्राधिकरण शासन को प्रस्ताव भेजने पर कायम रहा। इससे पहले दोनों पक्षों के बीच सात बार बातचीत की प्रक्रिया हुई लेकिन सहमति नहीं बन पाई। ऐसे में अभी किसानों ने धरना जारी रखने का ऐलान किया है। अब गुरुवार से दांडी यात्रा की तर्ज पर हर एक गांव में अगले चार दिन किसान जन जागरण यात्रा निकाली जाएगी।
    छात्रों ने चलाया सफाई अभियान
    किसान बुधवार को 43वें दिन भी हरौला के बारातघर में धरने पर बैठे। दोपहर करीब साढ़े तीन बजे किसानों का प्रतिनिधिमंडल वार्ता के लिए नोएडा प्राधिकरण के ऑफिस पहुंचा। यहां पर एसीईओ प्रवीण मिश्रा और ओएसडी इंदु प्रकाश के साथ किसानों की बातचीत हुई। करीब दो घंटे तक चली बैठक में मांगें पूरा करने को लेकर सहमति नहीं बन पाई। ऐसे में पिछले 43 दिन में बुधवार को आठवीं बार हुई बातचीत विफल हो गई। किसान प्रतिनिधियों ने बताया कि उनकी कोई भी मांग बोर्ड बैठक में नहीं रखी गई थी। किसानों के लगातार धरने के बाद भी प्राधिकरण मांगें पूरा करने के लिए गंभीर नहीं है। समिति के अध्यक्ष सुखबीर पहलवान ने कहा कि अब अलग-अलग स्तर पर प्राधिकरण का घेराव किया जाएगा। अब अधिक संख्या में लोग प्राधिकरण के खिलाफ एकजुट होकर धरने को मजबूती देंगे। उन्होंने बताया कि जनजागरण यात्रा के तहत पैदल मार्च होगा तथा गांव-गांव जाकर प्राधिकरण के खिलाफ समर्थन मांगा जाएगा। हर घर से मुट्ठी भर चावल लिया जाएगा।
  • देह व्यापार का पर्दाफाश
  • नोएडा। एंटी हयूमन ट्रैफिकिंग यूनिट (एएचटीयू) ने ऑनलाइन बुकिंग कर देह व्यापार कराने वाले गिरोह का पर्दाफाश कर एक आरोपी को सेक्टर-53 से गिरफ्तार किया है। साथ ही, चार लड़कियों को बरामद किया है। आरोपी ऑन डिमांड लड़कियों को देह व्यापार के लिए भेजते थे। पुलिस ने आरोपी से कार सहित अन्य सामान बरामद किया है।
    छात्रों ने चलाया सफाई अभियान
    एसीपी रजनीश वर्मा के नेतृत्व में मंगलवार रात को एएचटीयू की टीम और पुलिस ने सेक्टर-53 के होटल के सामने से देह व्यापार कराने वाले गिरोह के आरोपी को गिरफ्तार किया। उसको पकड़ने के लिए पुलिस खुद ग्राहक बनकर पहुंची थी। पुलिस पूछताछ में आरोपी की पहचान सेक्टर-71 निवासी सलमान के रूप में हुई। वह मूलरूप से ओरैया के गांव दलीपपुर का रहने वाला है। पुलिस ने आरोपी से एक कार, दो मोबाइल और 500 रुपये बरामद किए हैं। इस मामले में एक आरोपी वांछित है। पुलिस उसकी तलाश में छापेमारी कर रही है।
    ग्राहक से पांच से लेकर 20 हजार रुपये लेते थे
    पुलिस पूछताछ में आरोपी ने बताया कि वह इंटरनेट और व्हाट्सएप के जरिये लोगों से बात करता था। व्हाट्सएप पर ही युवतियों के फोटो ग्राहकों को भेजता था। फिर सारी बात होने पर आरोपी अपनी कार से लड़की को उसके घर या होटल के कमरों तक पहुंचाता था। इसके एवज में आरोपी एक ग्राहक से पांच से 20 हजार रुपये वसूलता था। इस रकम का 40 प्रतिशत लड़कियों को दिया जाता था। बाकी रकम सलमान और उसका साथी अपने पास रख लेते थे। आरोपी नौकरीपेशा व बिजनेस करने वाले लोगों से संपर्क करता था। आरोपी सलमान के खिलाफ पूर्व में भी थानों में 10 केस दर्ज हैं।
    एसीपी रजनीश वर्मा ने बताया कि आरोपी अपने ग्राहकों को ऑन डिमांड लड़कियां मुहैया कराते थे। जहां भी ग्राहक लड़कियां बुलाता था, वहां पर ही अपनी कार से छोड़ने जाते थे। कई बार कैब से भी लड़कियों को भेजा जाता था। पुलिस ने आरोपियों के पास से पश्चिम बंगाल की दो, गाजियाबाद व दिल्ली की एक-एक लड़की बरामद की है। इनसे जबरन देह व्यापार कराया जा रहा था। पुलिस ने चारों को वन स्टॉप सेंटर भेज दिया है। पुलिस आरोपियों के गिरोह में शामिल अन्य लड़कियों को भी छुड़ाने का प्रयास कर रही है। इसके चलते आरोपियों के दिल्ली के ठिकानों पर छापेमारी की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *