Rastriyshan

एनसीआर/ दिल्ली की बड़ी खबरें…

  • नोएडा प्राधिकरण ने 24 अधिकारियों पर कराया एफआईआर

नोएडा। सुपरटेक एमरॉल्ड मामले में शासन के निर्देश पर नोएडा प्राधिकरण ने सोमवार को 24 अधिकारियों, सुपरटेक के चार निदेशकों और दो आर्किटेक्ट कंपनियों के खिलाफ लखनऊ विजिलेंस में एफआईआर दर्ज करा दी है। प्राधिकरण के नियोजन विभाग के वरिष्ठ प्रबंधक की ओर से एफआईआर दर्ज कराई गई है। दूसरी ओर सेवारत नियोजन विभाग के तीनों अधिकारियों को निलंबित करने के आदेश भी जारी कर दिए गए हैं।
एसआईटी की जांच के आधार पर शासन ने रविवार को संबंधित अधिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज करने के निर्देश दिए थे। इसी क्रम में सोमवार को नोएडा प्राधिकरण के नियोजन विभाग के वरिष्ठ प्रबंधक वैभव गुप्ता की ओर से एफआईआर दर्ज कराई गई। जिनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई है, उनमें नोएडा प्राधिकरण के तत्कालीन सीईओ मोहिंदर सिंह, एसीईओ आर.पी अरोड़ा, पीएन बाथम, ओएसडी यशपाल त्यागी, वित्त नियंत्रक एसी सिंह सहित अन्य अधिकारी शामिल हैं। इन पर नियमों को दरनिकार कर फर्जीवाड़ा कर निर्माण की अनुमति देने का आरोप है।
इस मामले की जांच अब लखनऊ विजिलेंस करेगी। जांच में अब 24 से अधिक अधिकारियों पर शिकंजा कस सकता है। प्राधिकरण अधिकारियों ने बताया कि एफआईआर दर्ज होने के अलावा सेवारत तीन अधिकारियों को भी सोमवार को निलंबित करने के आदेश जारी कर दिए गए। इनमें सहयुक्त नगर नियोजक ऋतुराज व्यास, सहायक प्रबंधक नियोजक अनीता व सहयुक्त नगर नियोजक विमला सिंह हैं। मुकेश गोयल पहले ही इस मामले में निलंबित किए जा चुके हैं। सोमवार दोपहर को आदेश आते ही नोएडा प्राधिकरण में कार्यरत विमला सिंह ऑफिस छोड़कर चली गईं।

प्राधिकरण दो दिन में सात हजार वर्ग मीटर को जमीन कब्जे में लेगा 
सुपरटेक एमरॉल्ड और एटीएस सोसाइटी के बीच खाली पड़ी करीब सात हजार वर्ग ग्रीन बेल्ट की जमीन पर नोएडा प्राधिकरण दो-तीन दिन में कब्जा लेगा। बिल्डर के यहां रखे सामान को हटवाकर इसकी फेंसिंग कराई जाएगी। इसके अलावा इस मामले में दोषी उद्यान विभाग के अधिकारियों की पहचान करने के लिए एसीईओ नेहा शर्मा की अध्यक्षता में एक कमेटी गठित कर दी गई है जो जल्द रिपोर्ट देगी। समिति की रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐

  • किसानों ने काली पट्टी बांधकर निकाला मौन जुलूस

नोएडा। लखीमपुरी खीरी में हुए हादसे में मारे गए किसानों की याद में सोमवार को नोएडा में धरना दे रहे किसानों ने काली पट्टी बांधकर मौन जुलूस निकाला। इससे पहले किसानों ने सोमवार को थाली बजाकर अधिकारियों को नींद से जगाने का कार्यक्रम चलाने का निर्णय लिया था। मंगलवार को प्राधिकरण अधिकारियों व किसानों के बीच मांगों को लेकर बैठक होगी।
सेक्टर-5 हरौला बारात घर में किसान एक सितंबर से धरने पर बैठे हैं। सोमवार को किसानों को धरने पर बैठे हुए 34 वां दिन था। सोमवार को काफी संख्या में किसान बारात घर में इकट्ठा हो गए थे। किसानों ने सबसे पहले हवन किया। वहीं पर निर्णय लिया गया कि लखीमपुर खीरी में किसानों की मौत को देखते हुए अब थाली बजाने का कार्यक्रम नहीं चलाया जाएगा। प्राधिकरण के चारों ओर शांतिपूर्वक मौन जुलूस निकाला जाएगा। दोपहर करीब ढाई बजे किसानों ने मौन जुलूस निकाला। इससे पहले ओएसडी इंदु प्रकाश ने किसानों के बीच पहुंचकर उनकी उचित मांगों के जल्द समाधान का आश्वासन दिया। उन्होंने किसानों को बातचीत का प्रस्ताव दिया है। ऐसे में मंगलवार को प्राधिकरण अधिकारियों व किसानों के बीच बैठक होगी।

💐💐💐💐💐💐💐

  • 2 दिनों में डेंगू के 22 मरीजों की पुष्टि

नोएडा। पिछले दो दिनों में डेंगू के 22 नए मरीजों की पुष्टि स्वास्थ्य विभाग ने की है। अब जिले में कुल मरीजों की संख्या 77 हो गई है। वहीं निजी अस्पतालों में डेंगू के 300 से अधिक संदिग्ध मरीज इलाज करा रहे हैं। इन मरीजों में रैपिड किट से डेंगू की पुष्टि की गई है। इनके नमूनों की क्रॉस जांच के बाद स्वास्थ्य विभाग बीमारी की पुष्टि करेगा।

💐💐💐💐💐💐💐💐💐

  • सपा ने सिटी मजिस्ट्रेट को घेरा

नोएडा। लखीमपुर खीरी घटना और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को हिरासत में लिए जाने के खिलाफ सपा कार्यकर्ताओं ने सोमवार को सिटी मजिस्ट्रेट कार्यालय का घेराव किया। कार्यकर्ताओं ने प्रदेश सरकार के खिलाफ नारेबाजी भी की।
सपा के महानगर अध्यक्ष दीपक विग के नेतृत्व में पार्टी कार्यकर्ता करीब दोपहर में सिटी मजिस्ट्रेट कार्यालय पहुंचे। सपा नेताओं ने लखीमपुर खीरी मामले में किसानों की हत्या में शामिल लोगों पर कार्रवाई की मांग की। इस दौरान नेताओं ने सिटी मजिस्ट्रेट को ज्ञापन सौंपा। पूरे देश के किसानों की मांग मानने की भी मांग की गई। प्रदर्शन में सुनील चौधरी, रेशपाल अवाना ,विपिन अग्रवाल ,शकील सैफी ,गौरव चाचरा ,शंभू प्रसाद पोखरियाल ,गौरव कुमार यादव , कुलदीप शर्मा,विकास यादव सहित दर्जनों कार्यकर्ता मौजूद रहे।

💐💐💐💐💐💐💐💐

  • ट्रक की टक्कर से भाई-बहन की मौत

दादरी। नगर के जीटी रोड स्थित मिहिर भोज कॉलेज के सामने ट्रक की टक्कर से बाइक सवार भाई-बहन की मौत हो गई। ट्रक चालक मौके से फरार हो गया। सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने दोनों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।
पुलिस के अनुसार कोतवाली दादरी क्षेत्र के गांव कैमराला निवासी प्रिंस भाटी 19 इंटरमीडिएट और बहन सुरूति भाटी 21 एमए कर रही थी। सोमवार दोपहर में प्रिंस बहन को बुखार आने पर डॉक्टर के पास बाइक से लेकर दादरी जा रहा था। जब वह मिहिर भोज कॉलेज के पास जीटी रोड पर पहुंचा तो ट्रक ने उसकी बाइक में टक्कर मार दी। ट्रक की टक्कर से दोनों बहन-भाई सड़क पर गिर गए और ट्रक के नीचे आ गए। इससे दोनों की कुचलने से मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई। हादसे के बाद ट्रक चालक मौके से फरार हो गया। सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंची और दोनों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐

  • फैसला आने पर 45 हजार फ्लैटों की रजिस्ट्री का खुलेगा रास्ता

नोएडा। नोएडा-ग्रेनो प्राधिकरण और बिल्डरों के बीच बकाए पर ब्याज को लेकर चल रहे मामले में इस महीने फैसला आने की उम्मीद है। फैसले पर दोनों शहरों के करीब 45 हजार फ्लैटों की रजिस्ट्री का रास्ता खुल जाएगा। इन फ्लैटों में रहने वाले लोग दो से तीन साल से रजिस्ट्री का इंतजार कर रहे हैं।
बकाए पर ब्याज को लेकर मामला सुप्रीम कोर्ट में चल रहा है। इस मामले में करीब सवा साल पहले जुलाई में कोर्ट ने बिल्डरों के पक्ष में फैसला सुनाते हुए एमसीएलआर के हिसाब से बकाए पर ब्याज देने का आदेश दिया था। आदेश में यह भी कहा था कि एक महीने में 25 प्रतिशत और बाकी 75 प्रतिशत पैसा एक साल के अंदर बिल्डरों को देना होगा, तभी उन्हें इस सुविधा का फायदा दिया ।

💐💐💐💐💐💐💐

  • बीड़ी न दिया तो कर दी हत्या

नई दिल्ली। दिल्ली के द्वारका जिले में कत्ल की एक सनसनीखेज वारदात सामने आई है, जहां एक शख्स ने महज बीड़ी ना देने पर एक महिला दुकानदार की चाकू से गला रेतकर हत्या कर दी।
कत्ल की ये सनसनीखेज वारदात वहां लगे एक सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई। इसके बाद स्थानीय लोगों ने आरोपी को पीछा कर पकड़ लिया और उसकी जमकर पिटाई कर दी। इस दौरान पुलिस ने आरोपी को भीड़ से बचाया तो पुलिस के साथ उनकी झड़प हो गई।
घटना द्वारका जिले के डाबरी इलाके की है। मृतक महिला की पहचान 30 वर्षीय विभा के रूप में हुई है। जो इलाके में अपने पति के साथ मिलकर एक छोटी सी दुकान चलाती थी। जहां वो सब्जी और अन्य परचून का सामान बेचती थी।
रविवार की रात करीब 10:30 बजे दीपक नाम का एक शख्स विभा की दुकान पर पहुंचा। वो नशे में धुत था। वो विभा से बीड़ी मांगने लगा, लेकिन महिला ने उसे बीड़ी देने से इनकार कर दिया।
इस बात से नाराज होकर दीपक दुकानदार विभा के साथ बहसबाजी करने लगा फिर वो इसके साथ झगड़ा करने लगा। विभा ने जब उससे बचने की कोशिश की तो आरोपी दीपक ने अपने झोले से धारदार चाकू नुमा हथियार निकालकर विभा पर हमला कर दिया।
इसी दौरान उसने महिला को पीछे से पकड़ा और उसका गला रेत दिया। इस वारदात को आरोपी ने सड़क पर अंजाम दिया और फिर तेजधार हथियार को अपने थैले में रखकर वहां से भाग गया।

💐💐💐💐💐💐💐💐

  • ई-संजीवनी के जरिए 1.3 करोड़ परामर्श सेवाएं

नई दिल्ली (एजेंसी )। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने सोमवार को केकहा कि सरकार की टेलीमेडिसिन सुविधा ई-संजीवनी के जरिए 1.3 करोड़ से अधिक परामर्श सेवाएं दी गईं। आंध्र प्रदेश, कर्नाटक और तमिलनाडु ने इन सेवाओं का अधिकतम उपयोग किया है।
मंत्रालय ने कहा कि आज लगभग 90,000 मरीज प्रतिदिन ई-संजीवनी मंच का इस्तेमाल कर रहे हैं। ई-संजीवनी के दो संस्करण हैं, जो पूरे भारत में दूरस्थ चिकित्सा परामर्श प्रदान कर रहे हैं। इनमें चिकित्सक से चिकित्सक (ई-संजीवनीएबी-एचडब्ल्यूसी) और रोगी से डॉक्टर (ई-संजीवनीओपीडी) शामिल हैं। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा नवंबर 2019 में पेश की गई ई संजीवनीएबी-एचडब्ल्यूसी को भारत सरकार की आयुष्मान भारत योजना के तहत दिसंबर 2022 तक ‘हब एंड स्पोक’ मॉडल में 1,55,000 स्वास्थ्य और देखभाल केंद्रों पर लागू करने की योजना है। ई-संजीवनीएबी-एचडब्ल्यूसी वर्तमान में 27,000 से अधिक स्वास्थ्य और देखभाल केंद्रों पर संचालित है। इस विशाल टेलीमेडिसिन पहल का दूसरा संस्करण ई-संजीवनीओपीडी 13 अप्रैल, 2020 को पहले लॉकडाउन के दौरान शुरू किया गया था, जब देशभर में ओपीडी बंद थी। यह पहल रोगियों को उनके घरों की चारदीवारी में बाह्य रोगी सेवाओं तक पहुंच प्रदान करती है।

💐💐💐💐💐💐💐💐

  • एनसीपीआर ने बच्चों के लिए किया समर्पण कार्यक्रम शुरू

नई दिल्ली( एजेंसी )। राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (एनसीपीसीआर) ने बच्चों के लिए समर्पण कार्यक्रम शुरू कर दिया है। इस कार्यक्रम के तहत एनसीपीसीआर कोरोना से अपने माता-पिता या किसी एक को खोने वाले बच्चों को वित्तीय मदद देगा।
एनसीपीसीआर के अध्यक्ष प्रियंक कानूनगो ने बताया कि बच्चों के लिए समर्पण कार्यक्रम की शुरुआत मध्य प्रदेश के तीन जिलों विदिशा, रायसेन और सीहोर से की गई है। आने वाले समय में इसका विस्तार पूरे देश में होगा। उन्होंने बताया कि एनसीपीसीआर इस कार्यक्रम के तहत ऐसे बच्चों को दो हजार रुपये की आर्थिक मदद देगा। आयोग ने एक बयान में कहा है कि बच्चे प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से कोरोना महामारी से प्रभावित हुए हैं। आयोग कोरोना की वजह से अपने माता-पिता में से किसी एक या दोनों को खोने वाले बच्चों व ऐसे बच्चें जिन्हें देखभाल और सुरक्षा की जरूरत है, उनका डेटा एकत्र कर रहा है।

💐💐💐💐💐💐

  • रोहित चौधरी गैंग के 4 शूटर पकड़े गए

नई दिल्ली। दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने रोहित चौधरी गैंग के चार शूटरों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपियों पर दर्जनभर आपराधिक वारदात को अंजाम देने का आरोप है। गिरफ्तार आरोपियों की पहचान अंबेडकर नगर के दक्षिणपुरी निवासी निवासी राजेश, शशि उर्फ लाला, शिवम और सुनील उर्फ मोहित के रूप में हुई है। पुलिस के मुताबिक, रोहित चौधरी ने इन्हें एक प्लॉट पर कब्जा करने के लिए भेजा था। इसी दौरान सूचना मिलने पर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए आरोपियों को धर दबोचा।
डीसीपी क्राइम राजेश देव के मुताबिक, दो अक्तूबर को रोहित चौधरी गैंग के शातिर सदस्य राजेश उर्फ रावण के बारे में पता चला कि वह दिल्ली से अपने साथियों के साथ कहीं फरार होने वाला है। रावण को एक कार से मानेसर की ओर जाते हुए देखा गया है और उसे एनएच-8 से पकड़ा जा सकता है। इस सूचना पर कार्रवाई करते हुए मानेसर से दिल्ली आ रही एक कार को रोका गया, जिसमें सवार आरोपी राजेश उर्फ रावण पकड़ा गया। इसके बाद रावण से पूछताछ के आधार पर शशि उर्फ लाला, सुनील उर्फ मोहित और शिवम को जेड मोड़, दिल्ली से गिरफ्तार किया गया है।

💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐

  • डीयू में पहले दिन 30 हजार से अधिक छात्रों का दाखिला

नई दिल्ली। ऊंची कटऑफ के बाद भी डीयू में दाखिला के पहले दिन 30 हजार से अधिक छात्रों ने विभिन्न कोर्स में दाखिला के लिए आवेदन किया और 800 से अधिक छात्रों ने फीस भुगतान कर दाखिला लिया। डीयू के पहले दिन ही दाखिला में तेजी देखी गई। 100 फीसद की कटऑफ वाले पाठ्यक्रमों में भी आवेदन करने वालों की संख्या कम नहीं थी। हिंदू कॉलेज, रामजस कॉलेज में उन विषयों में ठीक ठाक छात्रों ने आवेदन किया जिसमें कटऑफ 100 फीसद थी।
रामजस कॉलेज के प्रिंसिपल प्रो. मनोज खन्ना ने बताया कि हमारे यहां राजनीति विज्ञान और फिजिक्स में भी छात्रों के आवेदन आए हैं। कुल 40 छात्रों का दाखिला संपन्न हुआ है जबकि आवेदन करने वाले छात्रों की संख्या काफी अधिक है। डीयू के एक अधिकारी ने बताया कि सोमवार शाम सात बजे तक 30,554 छात्रों ने विभिन्न कालेजों में आवेदन किया था। इनमें से 2286 छात्रों का आवेदन प्राचार्यों द्वारा मंजूर किया जा चुका है। यानी वह छात्र जिनके प्रमाणपत्र पूरे पाए गए हैं और जिन्होंने जरूरी अर्हता पूरी की है उनको फीस जमा करने के लिए मंजूरी मिली है। उसमें से 800 से अधिक छात्रों ने शुल्क जमा भी कर दिया है। डीयू ने पहली कटऑफ के दाखिला के लिए 6 अक्टूबर तक का समय दिया है जबकि फीस जमा करने की अंतिम तिथि 8 अक्टूबर है।

💐💐💐💐💐💐💐💐

  • गांवों को संवारने के लिए गोद लेगा विश्वविद्यालय

नई दिल्ली। राजधानी के गांवों को सवांरने के लिए यहां स्थित विश्वविद्यालय उन्हें गोद लेने की तैयारी में हैं। वह गांववालों को कानूनी शिक्षा देने, सामाजिक सौहार्द्र, शिक्षा, लैंगिक समानता और स्वरोजगार के बारे में जागरूक करेंगे। इसके अलावा, गांव के युवाओं को उद्यमिता का कोर्स कराकर उनको प्रमाणपत्र भी देंगे।
अंबेडकर विश्वविद्यालय की कुलपति प्रो.अनु सिंह लाथर ने बताया कि हम विश्वविद्यालय के आसपास के लगभग छह गांवों को गोद लेंगे। विश्वविद्यालय का आउटरिच एंड एक्सटेंशन डिविजन इस काम को करेगा। आधुनिक सुविधा से युक्त एकेडमिक इनिशिएटिव वैन गांव-गांव पहुंचेगी और उसमें वह सभी सुविधाएं और जानकारी होंगी, जिससे गांव के लोग लाभांवित होंगे। इसे करने में दो वर्ष का समय लगेगा।
उन्होंने बताया कि हम वहां के समुदाय से भी जुड़ेंगे और बच्चों, परिवारों को जागरूक करेंगे। वहां पर कानूनी साक्षरता के लिए भी काम करेंगे। यह पहल जानो अपना संविधान के तहत होगी। इसके तहत गांव के लोगों को उनके अधिकार के अलावा कर्तव्यों की भी जानकारी दी जाएगी।

  • सर्टिफिकेट कोर्स के लिए नहीं होगी फीस :

कुलपति ने बताया कि गांवों के युवा जो सर्टिफिकेट कोर्स करेंगे, उसके लिए उन्हें किसी तरह की फीस नहीं देनी होगी। उनको हमारे यहां चलने वाले अटल इंक्यूबेंशन सेंटर में प्रशिक्षित भी किया जाएगा। इसके अलावा, केयर एंड कम्युनिटी क्राइसिस मैनेजमेंट फॉर कम्युनिटी लीडर्स से संबंधित सर्टिफिकेट कोर्स भी डिजाइन किया गया है।

  • आधुनिक सुविधा से लैस होगी वैन

एकेडमिक इनिशिएटिव वैन आधुनिक सुविधाओं से लैस होगी। इसमें डिस्प्ले बोर्ड, कंप्यूटर के अलावा सभी मूलभूत सुविधाएं होंगी। यह गांव-गांव में जाएगी। इससे गांव के छात्र ही नहीं अन्य लोग भी लाभांवित होंगे। उनको साक्षर करने, लैंगिक जागरूकता के लिए भी यह वैन काफी कारगर होगी। अंबेडकर विश्वविद्यालय द्वारा इस तरह का पहला प्रयास है।

  • डीयू ने भी की है पहल

डीयू ने भी दिल्ली के कुछ गांवों को गोद लिया है। वहां पर डीयू की तरफ से उद्यमिता का प्रशिक्षण, कोविड-19 के दौरान लोगों को वैक्सिनेशन सहित तमाम जानकारियां उपलब्ध कराई हैं। इसी तरह स्वयंसेवी संस्था इनेक्टस के माध्यम से भी कॉलेजों में जागरूकता कार्यक्रम डीयू के कॉलेज चला रहे हैं। एनआईआरएफ रैंकिंग में देश में पहला स्थान पाने वाले मिरांडा हाउस कॉलेज ने भी कई गांवों को गोद लिया है और वहां स्वरोजगार के अलावा अन्य जागरूकता कार्यक्रम संचालित करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *